1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

अमेरिकी उड़ान में बंद मोबाइल पर रोक

अमेरिका जाने वाले यूरोप और मध्यपूर्व के यात्रियों को और कड़ी सुरक्षा जांच का सामना करना पड़ेगा. फ्लाइट पर जाने वाले यात्रियों को अब लैपटॉप और मोबाइल फोन ऑन करके दिखाना होगा कि वह इसका इस्तेमाल कर रहे हैं.

हाल के कुछ दिनों में अमरिका को संकेत मिले हैं कि अल कायदा के उग्रवादी लैपटॉप और मोबाइल फोन का इस्तेमाल बम की तरह कर सकते हैं. एक बयान में अमेरिकी यातायात सुरक्षा प्रशासन ने कहा, "सुरक्षा जांच के दौरान अधिकारी यात्रियों से अपने उपकरणों को ऑन करने को कह सकते हैं, इनमें मोबाइल भी शामिल है. विमान में बिना पॉवर के उपकरणों को नहीं ले जाया जा सकेगा. ऐसे में यात्री की अतिरिक्त जांच की जाएगी."

फ्रांस और ब्रिटेन के अधिकारियों ने भी यात्रियों से कहा है कि वह सुरक्षा जांच के लिए थोड़ा और वक्त लेकर आएं हालांकि यह नहीं कहा गया है कि मोबाइल फोनों और कंप्यूटरों की जांच की जाएगी. अमेरिका के गृह मंत्रालय ने कहा है कि यूरोप में अलग अलग देशों के एयरपोर्ट अमेरिका जाने वाले यात्रियों के जूतों की भी जांच करें. मंत्रालय के मुताबिक पुरानी चेतावनियों के मुकाबले इस बार आतंकवादी हमलों के बारे में मिली सूचनाएं काफी घबराहट पैदा करने वाली हैं.

Sicherheitskontrolle Flughafen

पिछले हफ्ते अमेरिकी अधिकारियों ने यूरोपीय हवाई अड्डों में सुरक्षा को सख्त करने की बात कही थी. उन्होंने इसके पीछे कोई खास वजह नहीं दी. पश्चिमी खुफिया एजेंसियों का मानना है कि यूरोप से सैंकड़ों आतंकवादी मध्यपूर्व में लड़ने जा रहे हैं. इनमें से कई अरब प्रायद्वीप में अल कायदा के साथ जुड़े हो सकते हैं. अमेरिकी खुफिया एजेंसियों का कहना है कि अल कायदा सीरिया में आतंकवादियों को बम बनाने की जानकारी दे रहा है. इन बमों का इस्तेमाल पश्चिमी देशों के हवाई जहाजों पर हो सकता है. इस बीच फ्रांस ने एलान किया है कि वह अपने हवाई अड्डों में सुरक्षा और कड़ी कर रहा है. अमेरिका हवाई अड्डों पर जांच सख्त करने का एलान पहले ही कर चुका है.

एमजी/एएम (डीपीए, एएफपी)

संबंधित सामग्री