अमेरिका में बंदूक का जवाब बंदूक से | दुनिया | DW | 22.12.2012
  1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

अमेरिका में बंदूक का जवाब बंदूक से

हालात जो न करवाएं कम है. कनेक्टिकट में हुई गोलीबारी के बाद से कई अमेरिकी स्कूल अध्यापकों को बंदूक रखने की छूट देने की बात सोच रहे हैं. टेक्सास के एक स्कूल में पहले से ही इसकी छूट है.

पिछले दिनों कनेक्टिकट में एक बंदूकधारी ने एक प्राथमिक स्कूल में घुस कर 20 बच्चों और 6 वयस्कों को मौत को घाट उतार दिया. इस घटना के बाद से अमेरिका में न सिर्फ मां बाप बल्कि स्कूल वाले भी सुरक्षा को लेकर चिंतित हैं.

हैरॉल्ड के एक स्कूल ने 2007 में सर्वसम्मति से यह तय किया था कि उसके कर्मचारियों को अपने पास बंदूक रखने की इजाजत दी जाए. स्कूल के सचिव डेविड थ्वीट ने कहा, "हमारे पास इतने पैसे नहीं हैं कि हम सुरक्षा गार्ड रख सकें, ऐसे में यही सही रास्ता दिखता है. हमारे यहां अध्यापक बंदूक चलाना जानते हैं, उन्हें इसके लिए खास ट्रेनिंग दी गई है. उनकी बंदूकें छुपी रहती हैं. हम इससे अपने बच्चों के लिए सुरक्षित महसूस करते हैं."

अब ओकलाहोमा, मिसौरी, साउथ डकोटा और ऑरेगॉन जैसे शहर भी इस बारे में सोच रहे हैं. हालांकि टेक्सास समेत इन सभी जगहों पर स्कूल परिसर में बंदूक लेकर आना कानून के खिलाफ है. एक खास अथॉरिटी लेटर मिलने पर आप ऐसा कर सकते हैं. थ्वीट ने बताया, "स्टेट से इसके लिए परमिट लेने के बाद कर्मचारियों को बंदूक चलाने और आत्मरक्षा की दूसरी ट्रेनिंग भी दी गई, साथ ही अथॉरिटी लेटर दिलवाया गया."

स्कूल के सचिव ने यह बताने से इनकार कर दिया कि 50 में से कुल कितने कर्मचारियों के पास बंदूक है. इससे स्कूल की सुरक्षा को खतरा हो सकता है. पास ही एलियट में रहने वाली कैरी रीनिश कहती हैं कि वह इस स्कूल में अपने बच्चे को भेज कर ज्यादा निश्चिंत महसूस करती हैं. ओकलाहोमा शहर में एक स्कूल के प्रिंसिपल के बेटे मैट टेम्पलटन ने कहा, "इतने सालों में पहली बार मैं यह सोचने को मजबूर हूं कि क्या मेरे स्कूल में भी काम करने वालों को बंदूक रखनी चाहिए? और ऐसा कनेक्टिकट में हुए हादसे की वजह से है."

कनेक्टिकट हादसे के बाद एक तरफ बंदूक से जुड़े नियमों को सख्त बनाने पर अटकलों का बाजार गर्म है. दूसरी तरफ ओकलाहोमा के स्टेट प्रतिनिधि मार्क मैक्कुलॉ ने बताया कि वह ऐसे बिल पर काम कर रहे हैं जिसके तहत स्कूलों में अध्यापकों और अधिकारियों को सुरक्षा की ट्रेनिंग दी जाए और स्कूलों में बंदूक लाने की इजाजत दी जा सके. दूसरे भी कई प्रांत अब इस बारे में सोच रहे हैं. इसी बीच मिशिगन के गवर्नर ने ऐसे ही एक बिल को रोक दिया. इसमें स्कूलों, चर्चों और डे केयर सेंटरों में बंदूक को छुपाकर लाने की छूट की बात प्रस्तावित थी. उन्होंने कहा इस बारे में और सोचे जाने की जरूरत है.

टेक्सास के गवर्नर रिक पेरी ने परमिट के साथ बंदूक रखने वालों को सभी सामाजिक स्थलों पर अपने पास छुपाकर बंदूक रखने की इजाजत दे दी. हालांकि कई लोगों का मानना है कि स्कूल परिसर में अध्यापकों और अधिकारियों को बंदूक रखने की छूट से कनेक्टिकट जैसी और भी घटनाओं का अंदेशा है.

एसएफ/एनआर (एपी)

DW.COM

WWW-Links