1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

मनोरंजन

अमेरिका में जॉर्ज वॉशिंगटन पर जुर्माना

अमेरिका के पहले राष्ट्रपति जार्ज वॉशिंगटन ने न्यूयार्क के एक पुस्तकालय से 220 साल पहले दो किताबें लीं. यह किताबें आज तक नहीं लौटाई गई हैं. इस वजह से वाशिंगटन पर अब चार हज़ार डालर से अधिक का जुर्माना हो चुका है.

default

दैनिक डेली न्यूज़ की एक रिपोर्ट में कहा गया है कि न्यूयार्क के सबसे पुराने पुस्तकालय के रजिस्टर के मुताबिक अमेरिका के पहले राष्ट्रपति ने 220 साल पहले दो किताबें ली थी, जिन्हें उन्होंने वापस नहीं किया. इस वजह से वॉशिंगटन के नाम पर लगातार ज़ुर्माना दर्ज किया जा रहा है, और इस बीच उसकी राशि चार हज़ार डालर से अधिक हो चुकी है.

इनमें से एक किताब अंतर्राष्ट्रीय संबंधों के बारे में है और उसका नाम है लॉ ऑफ़ नेशंस. दूसरी किताब ब्रिटेन के हाउस ऑफ़ कामंस की बहसों का दस्तावेज़ है. लाइब्रेरी से जारी हुई यह किताबें वॉशिंगटन को 2 नवंबर 1789 को लौटानी थीं.

न्यूयार्क सोसाइटी लाइब्रेरी के प्रधान मार्क बार्टलेट ने कहा कि वे ज़ुर्माने की अदायगी की कोशिश नहीं कर रहे हैं. लेकिन उन्हें ख़ुशी होगी, अगर दोनों किताबें वापस मिल जाएं. वॉशिंगटन के अलावा अमेरिकी इतिहास के कई अन्य बड़े नामों ने भी पुस्तकालय की किताबें वापस नहीं की. अमेरिकी स्वतंत्रता संग्राम के अन्य कई नेताओं, मसलन आलेक्ज़ांडर हैमिल्टन, ऐरन बर और जॉन जे ने भी किताबें नहीं लौटाई.

रिपोर्ट: एपी/उभ

संपादन: ओं सिंह

संबंधित सामग्री