1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

मनोरंजन

अमेरिका में गणित और विज्ञान पढ़ाओ अभियान

अमेरिकी बच्चे गणित और विज्ञान में पिछड़ते जा रहे हैं इसलिए अमेरिकी राष्ट्रपति ने उन्हें ये विषय पढ़ाने के लिए विशेष अभियान चलाने की बात कही. इस अभियान का अंतरिक्ष में जाने वाली पहली अमेरिकी महिला ने भी स्वागत किया.

default

गुरुवार को अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा ने स्कूली बच्चों को गणित और विज्ञान में पारंगत करने के लिए नए कदम की घोषणा की. समीकरण को बदलो ये कार्यक्रम अंतरिक्ष यात्री सैली राइड सहित कई लोगों ने मिल कर बनाया. इसमें बिल और मेलिंडा गेट्स फाउंडेशन और न्यूयॉर्क के कैर्नेजी कॉर्पोरेशन ने दान दिया है.

इसमें अमेरिका के कम से कम 350 विज्ञान केंद्रों और म्यूजियम्स ने वादा किया है कि वह 50 राज्यों में 25 हज़ार बच्चों के लिए बीस लाख घंटे विज्ञान की शिक्षा देगा.

इसके साथ ही राष्ट्रपति की ओर से एक अरब अमेरिकी डॉलर वाली एक योजना भी शुरू की गई है. राष्ट्रपति के विज्ञान सलाहकारों ने मांग की है कि एक लाख शिक्षकों को रखा जाए और विज्ञान और तकनीक पर केंद्रित एक हजार नए स्कूल खोले जाएं.

Flash-Galerie Imaginary

विज्ञान और गणित में पिछड़ रहे हैं अमेरिकी बच्चे

राष्ट्रपति बराक ओबामा ने कहा, "अमेरिका की सफलता इस बात पर निर्भर करती है कि वह खोज और नए प्रयासों में दुनिया का नेतृत्व करने की भूमिका को मजबूत करे."

राष्ट्रपति की विज्ञान सलाहकार समिति ने कहा, "अंतरराष्ट्रीय तुलना में देखें तो हमारे छात्रों का विज्ञान और गणित में प्रदर्शन खराब हो रहा है. शिज्ञा की प्रगति के आकलन में सामने आया है कि आठवी कक्षा के एक तिहाई बच्चे विज्ञान और गणित में निपुण नहीं हैं. ये नोट करना अहम है कि समस्या सिर्फ निपुणता की कमी नहीं है, बच्चे इन विषयों को बोर, मुश्किल समझ कर ऐसे ही छोड़ देते हैं."

सलाहकारों ने सुझाव दिया है कि कम साइंस टेकनॉलॉजी, इंजीनियरिंग और मैथेमैटिक्स(स्टेम) के लिए अगले दस साल में एक लाख शिक्षकों को नियुक्त किया जाए जो बच्चों को तैयार कर सकें और प्रेरणा दे सकें.

स्टेम विषयों में बच्चों को पारंगत करने के लिए विशेष एक हजार स्कूल भी खोले जाएंगे.

रिपोर्टः रॉयटर्स/आभा एम

संपादनः एस गौड़