1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

जर्मन चुनाव

'अमेरिका ने अत्याचारों की अनदेखी की'

सनसनीखेज दावे करने वाली वेबसाइट विकीलीक्स ने इराक युद्ध से संबंधित करीब चार लाख फाइलों का खुलासा किया है. इनमें युद्ध के दौरान कैदियों पर अत्याचार और आतंकवादियों को ईरान के समर्थन के बारे में सूचनाएं है.

default

विकीलीक्स के मुताबिक अमेरिकी सेना को युद्ध कैदियों पर अत्याचार के बारे में पता तो था लेकिन इन मामलों की तहकीकात नहीं की गई. मानवाधिकार संस्था एमनेस्टी इंटरनेशनल ने दस्तावेजों में कैदियों पर अत्याचार को "हैरान कर देने वाला" कहा है. एमनेस्टी ने अमेरिकी सरकार पर अंतरराष्ट्रीय कानून को तोड़ने को लेकर भी सवाल उठाए हैं. मध्यपूर्व और उत्तर अफ्रीका के लिए जिम्मेदार एमनेस्टी अधिकारी मैलकम स्मार्ट का कहना है कि इन दस्तावेज़ों से शायद यह भी सबूत मिलता है कि अमेरिकी सरकार को इन अत्याचारों के बारे में सालों से खबर थी.

पेंटागन ने की निंदा

अमेरिकी सुरक्षा मंत्रालय के मुख्यालय पेंटागन के प्रेस सचिव जेफ मोरेल ने कहा, "हम इस बात की निंदा करते हैं कि विकीलीक्स कमज़ोर लोगों को कानून तोड़ने और गोपनीय दस्तावेज़ों को लीक करने को उकसाता है और फिर इस जानकारी को विश्व भर में फैलाता है." हालांकि पेंटागन ने दस्तावेज़ों में जानकारी के बारे में कुछ खास नहीं कहा बल्कि इस बात पर जोर दिया कि असली खतरा इस बात का है कि आतंकी फाइलों के जरिए अमेरिकी कार्रवाई पर जरूरी जानकारी हासिल कर सकते हैं.

5 Jahre Irak Krieg, Teilnahme an einer Anti-Kriegs-Kundgebung am fünften Jahrestag der US-Invasion im Irak in Chicago

इराक युद्ध पर फिर चर्चा

इराक युद्ध की चर्चा अमेरिका में आजकल कम होती है लेकिन विकीलीक्स के खुलासे से यह मुद्दा फिर से मुख्यधारा में आ सकता है. इराक फाइलों में ईरान द्वारा आतंकियों की ट्रेनिंग और इराकी मिलिशिया को सहयोग के बारे में लिखा गया है. इराक युद्ध में आम लोगों की मौत पर भी ब्यौरे दिए गए हैं. खासकर अबु गरेब जेल में कैदियों पर अत्याचार की खबरें पहले भी अमेरिकी सरकार की छवि खराब कर चुकी हैं.

विकीलीक्स ने पहले ही कुछ अखबारों को अपने फाइलों की खबर दे दी थी. ब्रिटेन के गार्डियन और टेलिविज़न चैनल अल जज़ीरा के मुताबिक दस्तावेज़ों से पता चलता है कि अमेरिकी सैनिकों ने कैदियों पर अत्याचार को अनदेखा कर दिया. गार्डियन ने खास तौर पर एक मामले का जिक्र किया है जिसमें पुलिस ने एक कैदी के पैर पर गोली मारी जिसके बाद उसे चाबुक मारे गए. उसके बाद लिखा है, "नतीजा- तहकीकात खत्म". न्यू यॉर्क टाइम्स के मुताबिक अत्याचार के कई मामलों को अमेरिकी खोज रहे हैं लेकिन सबसे जरूरी मामलों को भुला दिया गया है.

US Truppen im Irak

इराक में ईरान का हाथ

दस्तावेज़ों से इराक में ईरानी प्रभाव के बारे में भी पता लग सकता है. 31 अक्तूबर 2005 की एक रिपोर्ट में कहा गया है कि ईरान का इस्लामिक रेवल्यूशनरी कोर इराकी शहर बसरा में हमलों की योजना बनाता है. इराक में अमेरिकी राजदूत ने इस साल अगस्त में कहा था कि ईरान की वजह से लगभग एक चौथाई अमेरिकी सैनिकों की इराक युद्ध में हत्या हुई है. 2003 से लेकर अब तक 4,000 से ज्यादा अमेरिकी सैनिक इराक में मारे गए हैं. 2011 से अमेरिकी सैनिकों के इराक से पूरी तरह निकलनी की योजना है.

जुलाई से लेकर अब तक दूसरी बार विकीलीक्स ने इस तरह की जानकारी का खुलासा किया है. इससे पहले अफ़ग़ानिस्तान पर 70,000 फाइलें वेबसाइट पर रिलीज़ की गईं थीं. इन जानकारियों के बाहर आने से अमेरिकी रक्षा तंत्र बेचैन हो उठता है.

रिपोर्टःएजेंसियां/एमजी

संपादनः ओ सिंह

DW.COM

WWW-Links