1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

अमेरिका को मिला तेल का अकूत भंडार

अमेरिका में सबसे बड़े तेल और गैस के भंडार का पता चला है. पश्चिमी टेक्सस की पथरीली जमीन में अरबों टन कच्चा तेल और गैस है.

अमेरिकी जियोलॉजिकल सर्वे के प्रोग्राम डायरेक्टर वॉल्टर गुइड्रोज का दावा है कि उन्हें 20 अरब बैरल तेल, 16,000 अरब घनमीटर प्राकृतिक गैस और 1.6 अरब बैरल तरल गैस का भंडार मिला है. चट्टानी इलाके में यह तेल की अब तक की सबसे बड़ी खोज है. गुइड्रोज ने खोज का श्रेय आधुनिक तकनीक को दिया.

भंडार पश्चिमी टेक्सस के वोल्फकैंप में है. इस इलाके से पहले भी तेल निकाला जाता रहा है. अमेरिकी जियोलॉजिकल सर्वे के अधिकारी के मुताबिक, "भले ही इस इलाके से लाखों बैरल तेल का उत्पादन किया जा चुका हो, लेकिन इसके बावजूद वहां कई अरब बैरल तेल पाने की संभावना है." टेक्सस के गवर्नर ग्रेग एबट के मुताबिक नई खोज से उनके राज्य को 1,000 अरब डॉलर का फायदा होगा.

(कैसे हुई एक बेशकीमती खोज)

अमेरिकी जियोलॉजिकल सर्वे के भूगर्भविज्ञानी क्रिस शेंक के मुताबिक यह इतनी बड़ी संभावना है कि इसका रातों रात फायदा नहीं उठाया जा सकता. कुछ विशेषज्ञों को लगता है कि इस खोज से टेक्सस के तेल और गैस उद्योग को भी फायदा होगा. अंतरराष्ट्रीय बाजार में तेल की कीमतों में आई भारी गिरावट से राज्य में हजारों नौकरियां गईं.

लेकिन इस खोज ने पर्यावरणविदों को चिंता में डाल दिया है. जलवायु परिवर्तन के दौर में तेल और गैस के इस्तेमाल को कम से कम करने की कोशिश को इस खोज से धक्का लग सकता है. डॉनल्ड ट्रंप के राष्ट्रपति चुनाव जीतने के बाद तेल, गैस और कोयला उद्योग को अच्छे दिनों की उम्मीद है. ट्रंप को वोट देने वालों में बड़ी संख्या में वे लोग भी थे जिनकी नौकरी इन उद्योगों में आई मंदी के कारण चली गई.

(क्या है तेल के खेल की राजनीति)

ओएसजे/आरपी (एपी)

 

DW.COM

संबंधित सामग्री