1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

अमेरिका के हाथों से फिसलते स्नोडेन

हांगकांग में एडवर्ड स्नोडेन को पकड़ने में नाकाम अमेरिका लग रहा है रूस में भी चूक जाएगा. स्नोडेन के क्यूबा जाने की तैयारी पूरी है और रूस की तरफ से अमेरिकी अनुरोध पर कोई जवाब नहीं आया है.

एरोफ्लोट एयरलाइंस के एक प्रतिनिधि ने बताया कि स्थानीय समय के मुताबिक दोपहर दो बज कर 5 मिनट पर मास्को से हवाना के लिए जाने वाले विमान में एक टिकट एडवर्ड स्नोडेन का भी है. टिकट रविवार को उसी पासपोर्ट पर बुक किया गया जिसे अमेरिका ने अब रद्द कर दिया है. कई हफ्तों से हांगकांग में छिपे स्नोडेन रविवार को ही मास्को पहुंचे. (कौन है एडवर्ड स्नोडेन?)

अमेरिकी राष्ट्रपति के दफ्तर व्हाइट हाउस ने सोमवार सुबह उम्मीद जताई है कि रूस खुफिया जानकारी लीक करने वाले एडवर्ड स्नोडेन को पकड़ने में उसकी मदद करेगा जिससे कि उस पर जासूसी का अभियोग चलाया जा सके. अमेरिकी खुफिया विभाग के पूर्व कर्मचारी 30 साल के एडवर्ड स्नोडेन कुछ खुफिया दस्तावेजों के साथ हांगकांग भाग गए. वहां पहुंचने के बाद उन्होंने उन दस्तावेजों को सार्वजनिक कर दिया. अमेरिकी सरकार के स्नोडेन को गिरफ्तार कर प्रत्यर्पण के लिए अनुरोध करने के बावजूद वह मॉस्को पहुंच गए हैं. स्नोडेन फिलहाल मॉस्को एयरपोर्ट पर एक होटल में हैं और मुमकिन है कि इक्वाडोर जाएंगे. दक्षिण अमेरिकी देश इक्वाडोर ने कहा है कि स्नोडेन ने शरण के लिए गुहार लगाई है. इक्वेडोर के वामपंथी राष्ट्रपति रफायल कॉरेया अमेरिका के बड़े आलोचकों में हैं.

रविवार को अमेरिकी सरकार ने स्नोडेन का पासपोर्ट रद्द कर दिया और उनकी अंतरराष्ट्रीय यात्रा पर रोक लगाने को कहा. अमेरिका की राष्ट्रीय सुरक्षा परिषद की प्रवक्ता कैटलिन हेडेन ने रूस से सहयोग की उम्मीद जताई है. उन्होंने बयान जारी कर कहा है, "बोस्टन मैराथन बम धमाके के बाद और रुस के साथ कानून पालन कराने के मामले में हमारे ऐतिहासिक सहयोग को देखते हुए," मॉस्को स्नोडेन को वहां से जाने नहीं देगा. कैटलिन ने हांगकांग से निकल जाने पर अफसोस भी जताया है. कैटलिन ने कहा है, "हमने हांगकांग और चीन की सरकार से कूटनीतिक रास्तों के जरिए कड़ा विरोध जताया है और कहा है कि इस तरह का व्यवहार अमेरिका-हांगकांग और अमेरिका-चीन के द्वीपक्षीय रिश्तों के लिए नुकसानदेह होगा."

विदेश मंत्री जॉन केरी के साथ भारत की यात्रा कर अमेरिकी विदेश मंत्रालय की प्रवक्ता जेन प्साकी ने इस बात की पुष्टि की है कि स्नोडेन का पासपोर्ट रद्द कर दिया गया है. रविवार को अमेरिकी न्याय विभाग ने स्नोडेन की गिरफ्तारी में नाकामी को 'चिंताजनक' बताया और जोर दे कर कहा कि अमेरिका ने प्रत्यर्पण की सारी जरूरतें पूरी की. हांगकांग के अधिकारियों का कहना है कि प्रत्यर्पण के अनुरोध के साथ भेजे गए दस्तावेज अधूरे थे लेकिन न्याय विभाग ने साफ इनकार किया है कि दस्तावेजों में कोई कमी थी. न्याय विभाग के प्रवक्ता ने बयान जारी कर कहा है, "अमेरिका-हांगकांग सरेंडर एग्रीमेंट के मुताबिक प्रत्यर्पण के उद्देश्य से गिरफ्तारी के लिए सारी जरूरी चीजें मौजूद थीं. शुक्रवार को सारी चर्चाओं के दौरान किसी भी मौके पर हांगकांग के अधिकारियों ने गिरफ्तारी के अनुरोध में किसी कमी का जिक्र नहीं किया."

न्याय विभाग का यह भी कहना है कि 10 जून को स्नोडेन के हांगकांग में होने और खुफिया जानकारियों को लीक करने के बारे में पता चला था और तभी से वह हांगकांग के न्याय विभाग के संपर्क में है.

एक अमेरिकी अधिकारी ने नाम जाहिर न करने की शर्त पर बताया कि अभियोग से भाग कर स्नोडेन ने साबित कर दिया है कि दुनिया में पारदर्शिता, प्रेस की आजादी, लोकतंत्र और इंसान के स्वतंत्र अधिकारों की रक्षा के हित में काम करने का उनका दावा झूठा है. इस अधिकारी का कहना है कि चीन, रूस, क्यूबा, वेनेजुएला और इक्वाडोर स्नोडेन के संभावित शरणगाह हो सकते हैं. इस अधिकारी ने यह भी कहा इन देशों में दमन और अधिकारों के हनन के बावजूद वहां जाने का फैसला बताता है, "उनका असली मकसद अमेरिका की सुरक्षा को नुकसान पहुंचाना है, इंटरनेट की आजादी और स्वतंत्र अभिव्यक्ति को बढ़ावा देना नहीं."

एनआर/एएम (एएफपी, डीपीए)

DW.COM

WWW-Links

संबंधित सामग्री