1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

अमन कचरू रैगिंग मामले में चार छात्र दोषी

धर्मशाला की सेशन कोर्ट ने अमन कचरू रैगिंग मामले में चार सीनियर मेडिकल छात्रों को दोषी करार दिया है. पिछले साल हिमाचल प्रदेश के टांडा के अस्पताल में रैगिंग में घायल कचरू की मौत हो गई.

default

सेशन जज पुरिंदर वैद्य ने इन छात्रों को आईपीसी की धारा 304(2), 452 और 34 के तहत दोषी करार दिया है. इन लोगों पर अमन कचरू की जान लेने की कोशिश, जबरदस्ती घर में घुसने और साजिश के लिए साथ मिल कर काम करने के आरोप साबित हुए हैं. इस मामले में अभी सुनवाई चल रही है और उम्मीद है कि दिन में किसी भी वक्त सजा सुना दी जाएगी.

19 साल का अमन टांडा के राजेंद्र प्रसाद गवर्नमेंट मेडिकल कॉलेज और अस्पताल का छात्र था. पिछले साल 8 मार्च को उसकी मौत हो गई. आरोप लगे कि कॉलेज में फाइनल ईयर के चार छात्रों ने उसकी रैगिंग की जो उसके लिए जानलेवा साबित हुआ. अजय वर्मा, नवीन वर्मा, अभिनव वर्मा और मुकुल शर्मा नाम के इन छात्रों ने रैगिंग के दौरान उसकी जम कर पिटाई की. बाद में अस्पताल में इलाज के दौरान अमन कचरू की मौत हो गई.

बचाव पक्ष की दलील थी कि अमन दिल का मरीज था और इसी वजह से उसकी जान गई लेकिन पोस्टमार्टम रिपोर्ट से साबित हुआ कि अमन की मौत सिर में चोट लगने के कारण दिमाग की नस फटने से हुई. अमन ने कॉलेज प्रशासन से अपनी रैगिंग के बारे में लिखित शिकायत भी की थी.

रिपोर्टः एजेंसियां/एन रंजन

संपादनः महेश झा

DW.COM

WWW-Links