1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

मनोरंजन

अभिनेता सदाशिव अमरापुरकर नहीं रहे

बॉलीवुड फिल्मों के जाने माने चरित्र अभिनेता सदाशिव अमरापुरकर का मुंबई में निधन हो गया. सदाशिव 64 वर्ष के थे.

पिछले दो हफ्ते से फेफड़ों में संक्रमण से पीड़ित सदाशिव अमरापुरकर कोकिलाबेन धीरूभाई अंबानी अस्पताल में भर्ती थे और उन्हें आईसीयू में रखा गया था. उन्होंने सोमवार तड़के दो बजकर 45 मिनट पर अंतिम सांस ली. मराठी ब्राह्मण परिवार में जन्मे सदाशिव अपने परिवार और करीबी दोस्तों के बीच तात्या के नाम से जाने जाते थे. उनका विवाह स्कूली जीवन की साथी रही सुनंदा करमाकर के साथ हुआ था.

खलनायकी किरादारों के जरिए अभिनय की शुरूआत करने वाले सदाशिव ने बाद में हास्य के साथ ही अन्य चारित्रिक भूमिकायें निभाई थी. अपने लंबे फिल्मी करियर में सदाशिव को 1984 में दो फिल्म फेयर पुरस्कार मिले थे. उन्होंने 1991 में निर्माता निर्देशक गोविंद निहलानी की फिल्म अर्ध सत्य के लिए सर्वोत्तम सहायक अभिनेता का पुरस्कार जीता था.

महेश भट्ट की फिल्म सड़क में किन्नर की भूमिका को जीवंत करने वाले सदाशिव को इस फिल्म के लिए सर्वोत्तम विलेन का पुरस्कार भी मिला था. सदाशिव ने फिल्म आंखें, इश्क और कुली नंबर वन में हास्य भूमिका के जरिए र्दशकों की काफी लोकप्रियता बंटोरी थी.

एए/एमजे (वार्ता)


DW.COM

संबंधित सामग्री