1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

अब सऊदी अरब में भी होगी स्काइप और व्हाट्सऐप से कॉल

सऊदी अरब ने इंटरनेट कॉलिंग ऐप्स से प्रतिबंध हटाने का फैसला किया है. सेंसरशिप को लेकर अकसर आलोचना झेलने वाले सऊदी अरब में अब लोग स्काइप और व्हाट्सऐप से कॉल कर पायेंगे.

एक सरकारी प्रवक्ता ने बताया कि बुधवार से वॉयस और वीडियो कॉलिंग ऐप्स पर से प्रतिबंध हटा लिया जाएगा. कई जानकार इसे अर्थव्यवस्था की तेल पर निर्भरता कम करने के लिए उठाये जा रहे कदमों का हिस्सा मानते हैं. सऊदी अरब के संचार और तकनीक मंत्रालय के एक बयान का हवाला देते हुए सरकारी प्रवक्ता ने कहा, "वीओआईपी (वॉइस ओवर इंटरनेट प्रोटोकॉल) की सुविधा मिलने से ऑपरेशनल लागत में कमी आयेगी और डिजिटल उद्यमिता को बढ़ावा मिलेगा."

इससे एक दिन पहले ही कतर के टीवी नेटवर्क अल जजीरा ने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म स्पैटचैट की आलोचना की क्योंकि उसने सऊदी अधिकारियों के कहने पर अपने ऐप से अल जजीरा को हटा दिया है. सऊदी अरब अल जजीरा पर चरमपंथियों का मुखपत्र होने का आरोप लगाता है जिसे कतर का टीवी नेटवर्क खारिज करता है. सऊदी अरब के साथ साथ संयुक्त अरब अमीरात, मिस्र और बहरीन ने कतर से अपने राजनयिक रिश्ते तोड़ रखे हैं. संबंधों की बहाली के लिए इन देशों ने कतर के सामने जो शर्तें रखीं हैं उनमें अल जजीरा को बंद करना भी शामिल है. हालांकि कतर ऐसी मांगों को खारिज करता है.

सऊदी सरकार के बयान में कहा गया है, "नुकसानदायक और दुष्प्रचार फैलाने वाले चैनल अल जजीरा को हटाने के बारे में स्नैपचैट से सहयोग को मीडिया की अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता के खिलाफ कार्रवाई के तौर पर नहीं देखा जाना चाहिए."

एक बड़ी युवा आबादी वाला सऊदी अरब दुनिया में प्रति व्यक्ति सबसे ज्यादा सोशल मीडिया उपयोग करने वाले देशों में शामिल है. लेकिन सोशल मीडिया के लिए विशेष कोड होने की वजह से वहां अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता सीमित ही है. सऊदी अरब में आधे से ज्यादा लोगों की उम्र 25 साल से कम है और उनमें से ज्यादातर अपना समय सोशल मीडिया पर बिताते हैं.

एके/एनआर (एएफपी, रॉयटर्स)

DW.COM

संबंधित सामग्री