1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

वर्ल्ड कप

अब 'नरक की गुफा' से नहीं गुजरेंगे ऑस्ट्रेलियाई

ऑस्ट्रेलिया की टीम कॉमनवेल्थ खेलों के समापन समारोह में हिस्सा लेने को राजी हो गई है. आयोजकों ने उन्हें तसल्ली दी कि उन्हें तथाकथित नरक की गुफा से नहीं गुजरना होगा. इसके बाद दल ने समारोह में हिस्सा लेने का फैसला किया है.

default

ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ी

ऑस्ट्रेलियाई दल के प्रमुख स्टीव मोनगेटी ने उद्घाटन समारोह के बाद इस बातों को लेकर कड़ी नाराजगी जताई थी कि उनके खिलाड़ियों के दल को जवाहर लाल नेहरू स्टेडियम में प्रवेश करते वक्त एक घंटे से ज्यादा वक्त तक उस गुफा में रखा गया. असल में यह स्टेडियम में प्रवेश करने का रास्ता है.

पिछले हफ्ते मोनगेटी ने कहा कि खिलाड़ियों से मवेशियों जैसा बर्ताव किया गया और उन्हें एक घंटे से ज्यादा वक्त तक उस गुफा में रहना पड़ा जहां तापमान 40 डिग्री से ज्यादा था. बुधवार को मोनगेटी ने कहा कि उनके देश के अधिकारियों ने फैसला कर लिया था कि अगर उनकी बात नहीं मानी गई तो वे समापन समारोह का बहिष्कार करेंगे. उन्होंने कहा, "हमने ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ियों की कुछ चिंताएं आयोजकों के सामने उठाईं. अगर उन चिंताओं का हल नहीं निकाला जाता तो हम समारोह में न जाते. लेकिन अब कुछ हद तक खिलाड़ियों की समस्याओं को सुलझा लिया गया है इसलिए ऑस्ट्रेलिया समापन समारोह में हिस्सा लेगा."

उन्होंने बताया कि अब उनकी टीम को स्टेडियम में प्रवेश करने से पहले बाहर ही खड़ा रखा जाएगा. मोनगेटी ने कहा, "अब हमें उस गुफा में खड़ा नहीं रखा जाएगा जिसे हम नरक की गुफा या खौफनाक गुफा कहते हैं. अब हमें बाहर ही रखा जाएगा." उन्होंने कहा कि अब भी उनके 450 खिलाड़ियों में से 350 दिल्ली में ही हैं लेकिन उनमें से कितने समारोह में आएंगे यह कहना मुश्किल है. उन्होंने बताया, "कुछ देर पहले तक तो समारोह में हिस्सा लेने वाले खिलाड़ियों की तादाद जीरो थी. अब हम इस स्थिति में हैं कि अपने खिलाड़ियों से बात कर सकें और पूछ सकें कि वे समारोह में हिस्सा लेंगे या नहीं."

कॉमनवेल्थ खेलों का समापन गुरुवार देर शाम शुरू होगा. इसके साथ ही 19वें कॉमनवेल्थ खेल खत्म हो जाएंगे.

रिपोर्टः एजेंसियां/वी कुमार

संपादनः महेश झा

DW.COM

WWW-Links