1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

वर्ल्ड कप

अब तक के सबसे सफल कॉमनवेल्थ खेल होंगे: कृष्णा

भारत के विदेश मंत्री एसएम कृष्णा का मानना है कि नई दिल्ली के कॉमनवेल्थ खेल इसके इतिहास के सबसे सफल खेल साबित होंगे. खेलों की तैयारियों के लेकर तमाम देशों की ओर से असंतोष की बातें सामने आ रही हैं.

default

कृष्णा का भरोसा

लेकिन भारतीय विदेश मंत्री का मानना है कि इन खेलों में खिलाड़ियों को जो सुविधाएं दी जाएंगी वे अंतरराष्ट्रीय स्तर की होंगी. एक इंटरव्यू में कृष्णा ने कहा, "हम यह सुनिश्चित करेंगे कि इन खेलों का स्तर अंतरराष्ट्रीय हो और जो खिलाड़ी इनमें हिस्सा लेने के लिए आएंगे, वे हालात को लेकर बेहद खुश होंगे."

कृष्णा इस वक्त संयुक्त राष्ट्र की बैठकों में हिस्सा लेने के लिए न्यूयॉर्क में हैं. वहां उन्होंने पत्रकारों से बातचीत में कहा कि खराब मौसम की वजह से आयोजकों को खासी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है लेकिन कृष्णा ने वादा किया कि 3 अक्तूबर को खेलों के शुरू होने से पहले सारा काम पूरा हो जाएगा. उन्होंने कहा, "इस बार मॉनसून लंबा खिंच गया और इसने खेलों की तैयारियों में बहुत ज्यादा बाधा पहुंचाई है. लेकिन मैं आपको आश्वस्त करना चाहता

NO FLASH Eine eingestürzte Brücke bei einem Stadion in Neu Delhi

दो दिन पहले ही गिरा है स्टेडियम के पास पुल

हूं कि हम कॉमनवेल्थ खेल कराने में कामयाब होंगे और यह इतिहास के सबसे सफल खेलों में गिने जाएंगे."

इस बीच खेलों की तैयारियां पूरी न होने और सुरक्षा व्यवस्था को लेकर संतुष्ट न होने के कारण दुनिया के कई बड़े खिलाड़ियों ने कॉमनवेल्थ खेलों के लिए भारत न जाने का फैसला किया है. इनमें इंग्लैंड के लिए ओलंपिक की 400 मीटर दौड़ की गोल्ड मेडल विजेता क्रिस्टीन ओहुरुओगो शामिल हैं. ट्रिपल जंप के ओलंपिक चैंपियन फिलिप्स इदोवु भी अब दिल्ली नहीं जाएंगे. हालांकि कृष्णा ने सुरक्षा व्यवस्था को लेकर खिलाड़ियों और अधिकारियों को आश्वस्त करने की कोशिश की. उन्होंने कहा, "हम सबने सुरक्षा से जुड़ी चिंताओं को बड़ी गंभीरता से लिया है और मैं आपको विश्वास दिलाता हूं कि जहां तक खिलाड़ियों और खेलों की सुरक्षा का सवाल है तो इस मामले में कोई समझौता नहीं किया जा रहा है."

इससे पहले दिल्ली की मुख्यमंत्री शीला दीक्षित भी कह चुकी हैं कि कुछ समस्याएं हैं लेकिन उन्हें हल कर लिया जाएगा.

रिपोर्टः एजेंसियां/वी कुमार

संपादनः ए कुमार

DW.COM

WWW-Links