1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

'अब कांगो के सैनिक कर रहे हैं बलात्कार'

संयुक्त राष्ट्र की एक दूत ने आरोप लगाया है कि डेमोक्रैटिक रिपब्लिक कांगो के सरकारी सैनिक दूरदराज के उन गांवों में महिलाओं का बलात्कार और हत्या कर रहे हैं जहां हाल ही में विद्रोहियों ने सैकड़ों महिलाओं का बलात्कार किया.

default

कांगो में तैनात हैं यूएन सैनिक

विवाद में यौन हिंसा को रोकने के लिए जिम्मेदार संयुक्त राष्ट्र दूत मारगौट वालस्ट्रोम ने सुरक्षा परिषद को बताया कि यह विश्वास करने योग्य नहीं है कि कांगो के खनिज बहुल इलाके में वही समुदाय फिर से यौन हिंसा का शिकार बन रहा है. उन्होंने कहा कि यूएन मिशन मोनुस्को ने वालीकाले इलाके से नए हमलों की रिपोर्ट दी है जहां जुलाई और अगस्त में मिलिशिया और रवांडा के विद्रोहियों ने महिलाओं को पकड़ा और गांववालों और परिवार वालों के सामने उनका बलात्कार किया.

वालस्ट्रोम ने अतीत में डीआर कांगो को विश्व की बलात्कार राजधानी कहा है. उन्होंने सुरक्षा परिषद की बैठक से कहा, "मैं वालीकाले क्षेत्र में कांगो सेना द्वारा चलाए जा रहे सैन्य अभियान और नागरिकों की सुरक्षा के लिए उसके असर पर बहुत चिंतित हूं." वालीकाले के इलाके में खनन को रोकने के राष्ट्रपति के आदेश को लागू करने और क्षेत्र पर सरकारी नियंत्रण स्थापित करने के लिए हजारों सैनिकों को तैनात किया गया है. इलाके से मोनुस्को शांति सैनिकों ने इस तरह की खबरें दी हैं कि सैनिकों ने बलात्कार, हत्या और लूटपाट की है.

वालस्ट्रोम ने डीआर कांगो की सरकार से नए हमलों की तुरंत जांच करने और दोषियों को सजा देने की मांग की है. उन्होंने जुलाई और अगस्त में हुए बलात्कार के लिए रवांडा के विद्रोही संगठन एफडीएलआर और माइ-माइ मिलिशिया को जिम्मेदार ठहराया है. माइ-माइ नेता लेफ्टिनेंट कर्नल मायेले को इस महीने के शुरू में भारतीय शांति सैनिकों ने एक अभियान में पकड़ा है. वालस्ट्रोम ने भारतीय सैनिकों की सराहना करते हुए इसे महत्वपूर्ण शुरुआत बताया है. उन्होंने कहा कि गिरफ्तारी ने बलात्कार के हजारों पीड़ितों के लिए तगड़ा संकेत दिया है कि दुनिया उनकी तकलीफों पर आंखे मूंदकर नहीं बैठी है. उन्होंने एफडीएलआर के लेफ्टिनेंट कर्नल सेराफिन पर प्रतिबंध लगाए जाने की मांग की.

रिपोर्ट: एजेंसियां/महेश झा

संपादन: वी कुमार

DW.COM

WWW-Links