1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

खेल

अफ्रीका में चमकेंगे यूरोपीय सितारे

फुटबॉल का स्वर्ग यानी यूरोप. अफ्रीकी खिलाड़ी यूरोप में जलवा दिखाते हैं. इन खिलाड़ियों के लिए अब मौका है अपनी राष्ट्रीय टीम के लिए कुछ कर दिखाने का. अफ्रीकी कप फुटबॉल शनिवार से दक्षिण अफ्रीका में शुरू हो रहा है.

यूरोपीय लीग फुटबॉल बहुत कुछ अफ्रीकी खिलाड़ियों पर भी निर्भर करता है और यूरोपीय क्लबों को हर दो साल पर अपने लिए खास रणनीति बनानी पड़ती है क्योंकि हर दो साल में अफ्रीका कप फुटबॉल होता है. इसमें खिलाड़ी अपनी राष्ट्रीय टीम के लिए खेलने निकल जाते हैं. इस साल 16 टीमों के 368 खिलाड़ियों के नाम अफ्रीका कप के लिए सामने आए हैं. इनमें से आधे यूरोप में खेलते हैं.

दक्षिण अफ्रीका में जो टीमें मुकाबले की होड़ में बताई जा रही हैं, उनमें से बहुतों को अपने "यूरोपीय स्टार" खिलाड़ियों पर भरोसा है. आइवरी कोस्ट और केप वेर्डी की टीम के ज्यादातर खिलाड़ी यूरोप से हैं. सिर्फ साढ़े पांच लाख की आबादी वाला केप वेर्डी पहली बार अफ्रीका कप में खेल रहा है. यूरोप और अफ्रीका में फुटबॉल रिश्ते बहुत गहरे रहे हैं. फ्रांस और ब्रिटेन के औपनिवेशिक इतिहास का भी इसमें अहम रोल रहा है.

UEFA Champions League FC Bayern München FC Chelsea Didier Drogba

ड्रिबलिंग के उस्ताद आइवरी कोस्ट के ड्रोग्बा

आइवरी कोस्ट के याया तोरे और विल्फ्रेड बोनी से काफी उम्मीदें हैं. तोरे ब्रिटेन के मैनचेस्टर सिटी के लिए खेलते हैं. उन्हें इंग्लिश प्रीमियर लीग के अहम खिलाड़ियों में माना जाता है. बोनी को डिडिया ड्रोग्बा के बाद का सितारा माना जाता है. ड्रोग्बा शायद इस बार अपना आखिरी अफ्रीकी कप खेल रहे हैं. बोनी ने नीदरलैंड्स के क्लब से खेलते हुए 18 मैचों में 16 गोल किए हैं.

बोनी ड्रोग्बा से बहुत कुछ सीखना चाहते हैं. उन्होंने हाल में कहा, "मैं ड्रोग्बा को खेलते देखना चाहता हूं और सीखना चाहता हूं. वह एक महान फुटबॉलर हैं और ऐसे करिश्मे कर सकते हैं कि मैं वैसा करने का सोच भी नहीं सकता. लेकिन मैं कोशिश करूंगा कि 2013 के एशिया कप में मुझे कुछ मैच खेलने को मिलें." जर्मन क्लब हनोवर के लिए खेलने वाले आइवरी कोस्ट के डिडिया डी कोनन से भी "एलिफैंट्स" टीम को काफी उम्मीदें हैं. कोनन ने मौजूदा जर्मन लीग फुटबॉल में हनोवर के लिए 25 मैचों में छह गोल किए हैं.

Bildergalerie Africa Cup of Nations Togo

इंग्लिश लीग छोड़ कर खेल रहे हैं टोगो के एमानुएल आडेबायोर

टोगो के एमानुएल आडेबायोर ने अपने लीग मैनेजर के कहने के बावजूद इंग्लिश प्रीमियर लीग की जगह अफ्रीका कप में खेलने का फैसला किया है. वह ब्रिटेन के टोटेनहम से खेलते हैं. टोगो बहुत मुश्किल ग्रुप में है. उसे आइवरी कोस्ट, ट्यूनीशिया और अल्जीरिया के साथ जगह मिली है और अगर उसे कोई करिश्मा करना है, तो आडेबायोर का उसमें अहम रोल होगा. टोगो फुटबॉल संघ के अध्यक्ष गाबियएल अमेयी का कहना है, "उनका हमारी टीम के साथ होना बहुत महत्वपूर्ण है. वह हमारी टीम के सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ी और कप्तान हैं."

नाइजीरिया के ब्राउन इडेयी यूक्रेन की डीनामो कीव से खेलते हैं और इस सीजन में 17 मैचों में उन्होंने 13 गोल किए हैं. उनके साथ मॉस्को की स्पार्टेक के एमानुएल एमेनिके होंगे. बुरकीना फासो, अंगोला और दूसरी टीमों में भी ऐसे खिलाड़ी भरे पड़े हैं, जो यूरोप में खेलते हैं. लेकिन इन सबके बीच इस बार आइवरी कोस्ट के ड्रोग्बा नहीं हैं, जिन्होंने हाल ही में चीन में जाकर खेलने का फैसला किया है. उनकी अगुवाई में चेल्सी ने पिछली बार चैंपियंस लीग खिताब जीता.

एजेए/ओएसजे (डीपीए)

DW.COM

WWW-Links