1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

अफवाह फैलाने वाले भारतीय को स्विट्जरलैंड में जेल

स्विट्जरलैंड में अपनी फ्लाइट पकड़ने के लिए एक भारतीय को बम की अफवाह फैलाना भारी पड़ गया. उसे न सिर्फ जेल में डाल दिया गया है, बल्कि 50 हजार स्विस फ्रैंक यानी लगभग 35 लाख रुपए का जुर्माना भी भरना होगा.

स्विस मीडिया की रिपोर्टों के अनुसार इस व्यक्ति का नाम जाहिर नहीं किया गया है लेकिन उसकी उम्र 39 वर्ष है. बात पिछले महीने की है जब उसने रूसी एयरलाइंस एयरोफ्लोट के एक कर्मचारी को विमान पर बम होने की सूचना दी. ये व्यक्ति चाहता था कि इस चक्कर में विमान देर से उड़ेगा और वो उसे पकड़ लेगा.

ये विमान 13 अक्टूबर को जेनेवा से मॉस्को जा रहा था जहां से इस व्यक्ति को भारत जाने वाली फ्लाइट लेनी थी. ले मातिन अखबार का कहना है कि स्विस शहर मोंत्रो में रहने वाले इस व्यक्ति को एयरपोर्ट पर ही गिरफ्तार कर लिया गया और उसे छह महीने की जेल की सजा हुई है. साथ ही उस पर 50 लाख स्विस फ्रैंक का जुर्माना भी लगाया गया है.

देखिए, दुनिया के खतरनाक एयरपोर्ट

जेनेवा के पुलिस प्रमुख फ्रांसुआ वॉरिदे ने ले मातिन को बताया कि इस व्यक्ति से वसूले जाने वाले जुर्माना से उन 101 पुलिस अफसरों और छह सुरक्षा एजेंटों को भुगतान किया जाएगा जिन्हें अफवाह के कारण बुलाना पड़ा था. विमान पर चढ़ने वाले 116 यात्रियों की सघन जांच की गई थी. उन्होंने कहा, "जिस तरह के समय में हम रह रहे हैं, हमें ज्यादा से ज्यादा सुरक्षा एहतियात बरतनी पड़ती है."

चंद महीनों के भीतर ये दूसरा मौका है जबकि जेनेवा एयरपोर्ट पर अफवाह फैलाने वाले व्यक्ति के खिलाफ तगड़ा जुर्माना लगाया गया है. इसी साल सितंबर में जेनेवा की पुलिस ने एक फ्रांसीसी महिला पर इससे भी ज्यादा जुर्माना ठोका था. महिला ने अपने पति की प्रेमिका से बदला लेने के लिए बम की अफवाह फैलाई. इस महिला ने पुलिस को बताया जो महिला उसके पति के साथ सफर कर रही है उसके सामान में बम रखा है. बाद में अफवाह फैलाने वाली महिला पर पुलिस तैनाती के लिए 90 हजार स्विस फ्रैंक का जुर्माना लगाया गया. इस महिला को भी छह महीने की सजा हुई थी.

एके/वीके (एएफपी)

ऐसे सोते हैं विमान में एयर होस्टेस और पायलट

DW.COM