1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

खेल

अफरीदी की चुनौतियां

टेस्ट क्रिकेट से मुंह मोड़ने वाले पाकिस्तान के वनडे कप्तान शाहिद अफ्रीदी को अब एक ऐसी चुनौती का सामना करना पड़ रहा है, जो शायद उनके स्वभाव से मेल नहीं खाती. ईमानदार समझे जाने वाले अफरीदी को टीम का मनोबल बनाए रखना है.

default

रास्ता आसान नहीं.

इंग्लैंड के साथ दूसरे ट्वेंटी20 मैच में करारी हार के बाद पाकिस्तानी कप्तान अफरीदी ने स्वीकार किया कि स्कैंडल से तड़प रही टीम का मनोबल बढ़ाने के लिए उन्हें भारी चुनौती का सामना करना पड़ेगा. इस मैच में पाकिस्तानी टीम 89 रनों पर आउट हो गई, जो ट्वेंटी20 मैचों में पाकिस्तान का अब तक का सबसे कम स्कोर है. 36 गेंद बाकी रहते इंग्लैंड की टीम ने 6 विकेटों से अपनी जीत दर्ज की.

2-0 से यह श्रृंखला जीतने से पहले इंग्लैंड टेस्ट श्रृंखला में पाकिस्तान को 3-1 से हरा चुका है. दोनों देशों के बीच अब वनडे श्रृंखला शुरू होने वाली है. अफरीदी ने कहा कि यह एक बहुत बड़ी चुनौती है, लेकिन कोच के साथ वे टीम से बात करेंगे, और बचे समय का इस्तेमाल किया जाएगा. पिछले मैच के बारे में उन्होंने कहा कि उनका और दूसरे बल्लेबाजों का प्रदर्शन बहुत ही खराब और नौसिखिया रहा है. उन्होंने कहा, "हमने खराब क्रिकेट खेला है." अफरीदीका कहना है कि पाकिस्तानी टीम का मनोबल गिरा हुआ है, लेकिन एक जीत अगर मिल जाए, तो काफी कुछ बदल सकता है.

फिक्सिंग स्कैंडल के कारण आम तौर पर क्रिकेट जगत पर एक धब्बा सा लग चुका है. भारतीय स्पिनर हरभजन सिंह ने कहा है कि अब भारत के खिलाड़ियों पर भी भारी जिम्मेदारी है कि वे इस खेल की मर्यादा फिर से स्थापित करें. फैन्स को उम्मीद है कि भारत आस्ट्रेलिया श्रृंखला के जरिए मीडिया का ध्यान फिर एकबार फिक्सिंग से हटकर खेल की ओर जाएगा.

रिपोर्ट: एजेंसियां/उभ

संपादन: ए कुमार

DW.COM

WWW-Links