1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

अफगानिस्तान में जर्मन पत्रकार की हत्या

अफगानिस्तान में शनिवार को होने वाले राष्ट्रपति पद के चुनाव से ठीक एक दिन पहले दो विदेशी महिला पत्रकारों पर हमला हुआ है. खोस्त में हुए हमले में जर्मनी की फोटोग्राफर मारी गयी हैं और कनाडा की पत्रकार बुरी तरह जख्मी हुई हैं.

जर्मनी की आन्या नीडरिंगहाउस और कनाडा की कैथी गैनन समाचार एजेंसी एपी के लिए काम कर रही थीं. आन्या नीडरिंगहाउस नामी युद्ध फोटोग्राफर थीं और उन्हें अफगानिस्तान के उस इलाके और दूसरे विवादित इलाकों का सालों का अनुभव था. वे 2002 से एपी के लिए काम करती थीं और उन्हें और उनकी टीम को इराक युद्ध की रिपोर्टिंग के लिए पुलित्सर पुरस्कार मिला था.

कैथी गैनन को अस्पताल में भर्ती किया गया है. दोनों पत्रकारों पर हमला पाकिस्तान की सीमा से लगे एक छोटे से शहर खोस्त के पुलिस मुख्यालय में हुआ. हमले के काफी समय बाद तक हमलावर की पहचान को ले कर अटकलें लगती रहीं. लेकिन अब खोस्त के गवर्नर के प्रवक्ता ने कहा कि हमला वाकई एक पुलिसकर्मी ने ही किया. समाचार एजेंसी रॉयटर्स से बात करते हुए मोबारिज जदरान ने कहा, "नकीबुल्लाह खोस्त के तनाई जिले का पुलिसकर्मी है. उसी ने दो विदेशी पत्रकारों पर गोलियां चलाईं. इसमें एक की मौत हो गयी और एक घायल हुई है."

Afghanistan Anja Niedringhaus

जर्मनी की आन्या नीडरिंगहाउस

समाचार एजेंसी एएफपी के अनुसार वारदात जिले के पुलिस मुख्यालय में हुई है. न्यूयॉर्क के एपी मुख्यालय ने अब तक हमले की पुष्टि नहीं की है. वारदात की पृष्ठभूमि स्पष्ट नहीं है. दोनों रिपोर्टर राष्ट्रपति चुनाव की रिपोर्टिंग कर रही थीं और शुक्रवार को ही खोस्त पहुंची थीं.

तालिबान ने पहले ही इस बात की धमकी दी थी कि धमाकों और लोगों पर हमलों से चुनावों को भंग करने की कोशिश की जाएगी. पिछले महीने तालिबान ने राजधानी काबुल के एक होटल में गोलीबारी की जिसमें नौ लोगों की जान गयी. इसमें समाचार एजेंसी एएफपी के वरिष्ठ पत्रकार सरदार अहमद और उनके परिवार के तीन सदस्य भी शामिल थे. 11 मार्च को हुए एक और हमले में स्वीडन के पत्रकार नील्स हॉर्नर की मौत हो गई थी.

आईबी/एमजे (डीपीए, एएफपी)

संबंधित सामग्री