1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

अप्रैल में जर्मनी आएंगे मोदी

भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अप्रैल 2015 में जर्मनी का दौरा करेंगे और चांसलर अंगेला मैर्केल के साथ विश्व प्रसिद्ध हनोवर उद्योग मेले का उद्घाटन करेंगे. भारत हनोवर मेले का पार्टनर देश है.

हनोवर मेले के निदेशक मार्क सिमेरिंग ने नई दिल्ली में एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में भारतीय प्रधानमंत्री के जर्मन दौरे की पुष्टि की. जर्मन विदेश मंत्री फ्रांक-वाल्टर श्टाइनमायर ने अपने भारत दौरे पर प्रधानमंत्री मोदी को जर्मनी आने का न्यौता दिया था. नरेंद्र मोदी की सरकार मेक इन इंडिया योजना के तहत भारत में मैनुफैक्चरिंग को बढ़ावा देने की कोशिश कर रही है और विदेशी निवेशकों को भारत आकर उत्पाद बनाने को कह रही है. जर्मन कंपनियों ने भी भारत में कारखाने खोलने की उत्सुकता दिखाई है.

2015 का हनोवर मेला 13 अप्रैल से 17 अप्रैल तक चलेगा. नरेंद्र मोदी और अंगेला मैर्केल एक समारोही सभा में 12 अप्रैल की शाम को मेले का उद्घाटन करेंगे. 13 अप्रैल की सुबह दोनों नेता मेले के मंडपों के परंपरागत दौरे में हिस्सा लेंगे. इससे पहले भारत 2006 में इस मेले का पार्टनर देश रह चुका है. तत्कालीन प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह जर्मनी आए थे और अंगेला मैर्केल के साथ मेले का उद्घाटन किया था.

हनोवर मेले के एक बयान में कहा गया है कि मेले में भारत की पार्टनर देश के रूप में भागीदारी नए प्रधानमंत्री की महात्वाकांक्षी आर्थिक नीति पर बल देता है. मेक इन इंडिया योजना के तहत मोदी सरकार कारखानों और ढांचागत संरचना के आधुनिकीकरण पर जोर दे रही है. भारत सरकार मैनुफैक्चरिंग उद्योग को अर्थव्यवस्था की रीढ़ मानती है और विकास के लिए जर्मनी की संरचना, विज्ञान और तकनीक में दिलचस्पी ले रही है. सिमेरिंग ने कहा, "पार्टनर देश भारत एकदम सही समय पर आ रहा है. वह दुनिया के सामने एक आधुनिक और विकासमान आर्थिक सत्ता के रूप में पेश होगा."

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की जर्मन चांसलर अंगेला मैर्केल के साथ मुलाकात ऑस्ट्रेलिया में हुए जी-20 सम्मेलन के दौरान हो चुकी है. हनोवर मेला दोनों नेताओं को आर्थिक संबंधों को और बेहतर बनाने पर बातचीत का मौका देगा. इससे पहले ब्राजील जाते हुए मैर्केल के साथ मुलाकात की उम्मीद में मोदी बर्लिन रुके थे, लेकिन जर्मन फुटबॉल टीम के वर्ल्ड कप फाइनल में पहुंचने के कारण मैर्केल एक दिन पहले ही ब्राजील के लिए रवाना हो गई थीं. ब्राजील में दोनों नेताओं की मुलाकात नहीं हो पाई.

हनोवर उद्योग मेला दुनिया का सबसे महत्वपूर्ण औद्योगिक व्यापार मेला है. इस मेले के दौरान दस प्रमुख औद्योगिक क्षेत्रों के अत्याधुनिक उत्पादों और तकनीकों का प्रदर्शन किया जाता है. इनमें औद्योगिक ऑटोमेशन, ऊर्जा, मोबाइल टोक, डिजिटल फैक्टरी और औद्योगिक सप्लाई चेन शामिल हैं. अगले साल होने वाले मेले में मुख्य ध्यान औद्योगिक ऑटोमेशन और आईटी, ऊर्जा और पर्यावरण तकनीक, प्रोडक्शन तकनीक और रिसर्च पर है.

सवा 31 करोड़ यूरो के कारोबार के साथ हनोवर मेला दुनिया की दस सबसे बड़ी व्यापार मेला कंपनियों में शामिल है. 2013 में उसने जर्मनी में और दुनिया के दूसरे देशों में 119 मेलों और कांग्रेस का आयोजन किया जिसमें 41,000 प्रदर्शकों ने हिस्सा लिया. मेले में प्रदर्शित उत्पादों को देखने 40 लाख से ज्यादा लोग गए. वह दुनिया के बड़े मेलों में शामिल कंप्यूटर मेले सेबिट का भी आयोजन करता है.

DW.COM

संबंधित सामग्री