1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

अनोखा तोहफा भारत ले जाएंगे जियाबाओ

अगले हफ्ते दिल्ली के दौरे पर आ रहे चीनी प्रधानमंत्री वेन जियाबाओ के साथ कारोबारियो का एक विशाल जत्था भी होगा. 3 दिन के दौरे से 900 अरब रुपये के कारोबारी सौदे होने की उम्मीद. 15 दिसंबर को भारत जाएंगे जियाबाओ.

default

चीन की सबसे बड़ी कंपनियों के शीर्ष अधिकारी भी प्रधानमंत्री के इस दौरे पर उनके साथ होंगे. चीन के व्यापार संगठनों के अधिकारियों का कहना है कि दोनों देश मुख्य कार्यकारी अधिकारियों (सीईओ) का एक संयुक्त फोरम बनाने पर भी बातचीत करेंगे. भारत ने अमेरिका के साथ इसी तरह का एक फोरम 2005 में बनाया जिसमें दोनों देशों की बड़ी कपनियों के बड़े कारोबारी शामिल हुए हैं.

900 अरब रुपये के सौदों में खरीदने और बेचने दोनों तरह के सौदे हैं. इसमें रिलायंस पावर और शंघाई इलेक्ट्रिक ग्रुप के बीच 36 थर्मल पावर जेनरेशन सिस्टम की सप्लाई का सौदा है. इसी तरह का एक सौदा अडानी ग्रुप के साथ भी होना है. दोनों देशों के कारोबारियों की एक बैठक 15 दिसंबर को होगी जिसमें चीन के कारोबार मंत्री गाओ हुचेंग भी शामिल होंगे.

28.07.2010 DW-TV Fit und Gesund Tai Chi 03

ताई ची

भारत आने के लिए चीन के 300 कारोबारियों ने वीजा हासिल कर लिया है इसके अलावा चीन की सरकारी कंपनियों के 100 अधिकारी भी इस बैठक में शामिल होंगे.

उम्मीद यह की जा रही है कि प्रधानमंत्री जियाबाओ दोनों देशों के बीच कारोबारी असंतुलन को कम करने के लिए ज्यादा भारतीय चीजों को चीन के बाजार में बेचने की अनुमति देने का एलान करेंगे. इस साल दोनों देशों के बीच का कारोबार 60 अरब अमेरिकी डॉलर तक पहुंचने की उम्मीद की जा रही है. यह कारोबार 49.84 अरब डॉलर का आंकड़ा पहले ही पार कर चुका है. इसमें भारत के निर्यात का हिस्सा 17 अरब डॉलर है जबकि चीनी निर्यात का हिस्सा 32.84 अरब डॉलर का.

68 साल के वेन जियाबाओ अपने साथ एक सांस्कृतिक तोहफा भी लेकर आ रहे हैं. वह अपने पसंदीदा खेल ताई ची का खुले में अभ्यास करेंगे. ताई ची एक तरह का योग है जिसे तन और मन को तंदुरुस्त रखने के लिए चीनी लोग करते हैं. प्रधानमंत्री अपने विदेश दौरों पर भी इस अभ्यास को नहीं छोड़ते और भारत में भी यह सिलसिला जारी रहेगा. दिल्ली में जियाबाओ ताई ची स्कूली बच्चों के साथ करेंगे. इसके साथ ही भारत के स्कूलों में चीनी भाषा मंदारिन की पढ़ाई के लिए आर्थिक मदद देने का एलान भी इसी यात्रा के दौरान किया जा सकता है.

भारत मंदारिन को सीबीएसई के कोर्स में शामिल करने की योजना बना रहा है. चीनी प्रधानमंत्री की यात्रा के मौके पर मानव संसाधन मंत्री कपिल सिब्बल इसका एलान कर सकते हैं. भारत ने चीन से मंदारिन पढ़ाने के लिए टीचर मांगे हैं. दोनों देशों के कूटनीतिक रिश्तों की शुरुआत के 60 साल पूरे होने पर एक खास जलसा भी होगा. 17 दिसंबर को चीनी प्रधानमंत्री नई दिल्ली से फिर पाकिस्तान की यात्रा पर रवाना होंगे.

रिपोर्टः एजेंसियां/एन रंजन

संपादनः वी कुमार