1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

जर्मन चुनाव

अनुशासन समिति को भंग किया जाए: मोदी

निलंबित आईपीएल चेयरमैन ललित मोदी ने बीसीसीआई की अनुशासन समिति को भंग करने की मांग की है. मोदी ने सुप्रीम कोर्ट के रिटायर्ट जज से उन पर लगे आरोपों की जांच कराने की मांग की. मोदी पर लगे हैं वित्तीय धांधलियों के आरोप.

default

ललित मोदी

अनुशासन समिति मोदी पर लगे आरोपों की जांच कर रही है. भारतीय क्रिकेट बोर्ड को भेजे अपने नोटिस में मोदी ने आईपीएल के अंतरिम चेयरमैन चिरायु अमीन को भी जांच पैनल से हटाने की मांग की है.

Chirayu Amin 2001

चिरायु अमीन

मोदी के मुताबिक अमीन आईपीएल फ्रैंचाइजी के लिए विफल बोली लगाने वाले समूह में निवेशक रहे हैं और इसलिए उन्हें हटा देना चाहिए. मोदी ने बीसीसीआई शशांक मनोहर, सचिव एन श्रीनिवासन और अनुशासन समिति के तीन सदस्यों से अपने नोटिस का जवाब मांगा है.

अनुशासन समिति में बीजेपी नेता अरूण जेटली और ज्योतिरादित्य सिंधिया भी शामिल हैं. पैनल में चिरायु अमीन की उपस्थिति को दुर्भाग्यपूर्ण करार देते हुए नोटिस में आरोप लगाया गया है कि किसी ने भी यह स्पष्ट नहीं किया कि अमीन आईपीएल टीमों की बोली में शामिल रहे हैं. मोदी ने दावा किया कि मीडिया में उनके हवाले से अमीन के बोली लगाने वाले समूह में शामिल होने की बात सामने आई.

शशांक मनोहर पर आरोप लगाया है कि उन्हें इस बात को न सिर्फ छिपाए रखा बल्कि शुरुआत में उससे इनकार भी किया. नोटिस के अनुसार बचाव का कोई रास्ता न देखकर ही मनोहर ने यह स्वीकार लिया कि अमीन बोली लगाने वाले ग्रुप में शामिल रहे हैं. हालांकि शशांक मनोहर कह चुके हैं कि चिरायु अमीन ने इस संबंध में एक खत लिखकर उन्हें और श्रीनिवासन को जानकारी दे दी थी कि बोली सफल होने पर वह बीसीसीआई से इसकी इजाजत मांगेगे.

हालांकि मोदी अपने नोटिस में इस तर्क की धज्जियां उड़ा रहे हैं. उनका कहना है कि यह स्पष्टीकरण सिर्फ बचाव के लिए था और ऐसा कोई खत सामने ही नहीं आया है. इस बात को जानबूझकर बाद में सोचा गया ताकि अमीन को बचाया जा सके. ललित मोदी पर आईपीएल में वित्तीय धांधलियां बरतने के आरोप लगे हैं और इसी के चलते उन्हें आईपीएल चेयरमैन पद से हटा दिया गया था और अब बीसीसीआई और मोदी आपस में टकरा रहे हैं.

रिपोर्ट: एजेंसियां/एस गौड़

संपादन: आभा एम

संबंधित सामग्री