′अनुराग ने पूरा किया सपना′ | मनोरंजन | DW | 16.04.2014
  1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

मनोरंजन

'अनुराग ने पूरा किया सपना'

बॉलीवुड के दिवगंत फिल्मकार यश जौहर का सपना था कि उनका बेटा करण जौहर अभिनेता बने. लेकिन करण फिल्म निर्देशक बन गए, बाद में कॉफी पीकर गप मारने लगे. अब अनुराग कश्यप ने यश जौहर का सपना पूरा किया है.

बॉलीवुड के जाने माने फिल्मकार करण जौहर का कहना है कि अनुराग कश्यप ने उन्हें अभिनेता बनाकर उनके पिता यश जौहर का सपना पूरा कर दिया है. करण जौहर ने अनुराग कश्यप की फिल्म बॉम्बे वेलवेट में काम किया है. इस फिल्म में करण जौहर ने नेगेटिव किरदार निभाया है.

करण जौहर इसके पूर्व दिल वाले दुल्हनियां ले जायेंगे, ओम शांति ओम और लक बाई चांस जैसी कुछ फिल्मों में कैमियों (चंद पलों की भूमिका) कर चुके हैं.

अदाकारी के लिहाज से उन्होंने पहली बार बॉम्बे वेलवेट में ही काम किया है. करण कहते हैं, "मेरे पिता का कहना था कि मुझे अभिनेता बनना चाहिये लेकिन मैं ऐसा नही सोचता था. अनुराग कश्यप ने मुझे अभिनेता बनाकर मेरे पिता के सपने को पूरा कर दिया है. बॉम्बे वेलवेट की शूटिंग पूरी हो गई है."

अनुराग कश्यप के निर्देशन में बनी फिल्म बॉम्बे वेलवेट 60 के दशक की मुंबई दिखाती है. फिल्म में करण जौहर के अलावा रणबीर कपूर, अनुष्का शर्मा की भी मुख्य भूमिकाएं है. फिल्म क्रिसमस के दिन पर 25 दिसंबर को सिनेमाघरों में आएगी.

ओएसजे/एएम (वार्ता)

संबंधित सामग्री