1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

Radio D Teil 2

अध्याय 38: रेलगाड़ी से येना का सफर

फिलिप की कार खराब है और राडियो डी के दोनों संपादकों को रेलगाड़ी से अपने काम के अगले पड़ाव तक जाना है. वहां अजीब सी घटनाएं हो रही हैं. यानी यह पाउला और फिलिप का मामला है.

पाउला और फिलिप ट्रेन के कंपार्टमेंट में.

क्या पाउला और फिलिप सही समय पर पहुंच पाएंगे?

फिलिप अपनी कार मैकेनिक के पास ले गया था, इसी बीच एक नई खोज का काम आ जाता है. येना में कोई अनजाना शख्स लेजर किरणों से परेशान किए जा रहा है. पाउला और फिलिप को इस पर रोशनी डालनी है. तो रेलगाड़ी से घटनास्थल तक पहुंचना है. लेकिन जैसा कि अक्सर होता है, जैसे होना चाहिए सब कुछ वैसे नहीं होता है.

प्रोफेसर यहां सहायक क्रिया sollen पर नजर डालते हैं, कि कैसे सकारात्मक और प्रश्नवाचक वाक्यों में इसका अर्थ होता है.

डाउनलोड