1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

जर्मन चुनाव

अजमेर ब्लास्ट के पीछ हिंदू कट्टरपंथी!

2007 में अजमेर शरीफ़ दरगाह के बाहर हुए धमाके के लिए हिंदू कट्टरपंथी संगठन अभिनव भारत पर शक़ जताया जा रहा है. इस सिलसिले में राजस्थान पुलिस के आतंकवाद निरोधी दस्ते ने एक और व्यक्ति को गिरफ़्तार किया.

default

धमाके के आरोप में राजस्थान पुलिस ने मध्य प्रदेश से चंद्रशेखर नाम के व्यक्ति को गिरफ़्तार किया है. आरोप है कि चंद्रशेखर का संबंध हिंदू कट्टरपंथी संगठनों से है. अजमेर कोर्ट ने उसे 11 दिनों की पुलिस हिरासत में भेज दिया है. अजमेर धमाके के सिलसिले में यह दूसरी गिरफ़्तारी है.

पुलिस को शक है कि धमाके और उसकी साजिश में चंद्रशेखर ने अहम भूमिका निभाई. 2007 में हुए उस धमाके में तीन लोगों की जान चली गई थी. पुलिस देवेंद्र गुप्ता नाम के एक शख्स को हाल ही में गिरफ़्तार कर चुकी है. गुप्ता का संबंध हिंदू आतंकवादी संगठन अभिनव भारत से बताया जा रहा है.

Bombenanschläge in Indien

मालेगांव धमाका

पुलिस पहले गिरफ़्तार हो चुके अभिनव भारत के अन्य लोगों से लेकर चंद्रशेखर और गुप्ता तक की कड़ियां जोड़ने की कोशिश कर रही है. गुप्ता और मालेगांव धमाकों की आरोपी प्रज्ञा ठाकुर के लिंक की भी जांच चल रही है.

अब तक पूछताछ में चंद्रशेखर और गुप्ता ने विष्णु पाटीदार का नाम लिया है. इसके बाद एंटी टेररिज़्म स्कवॉड पाटीदार को पूछताछ के लिए मध्य प्रदेश से राजस्थान लाई है. अभिनव भारत पर मालेगांव और समझौता एक्सप्रेस ब्लास्ट के आरोप हैं. मामले में सेना के एक पूर्व अधिकारी कर्नल पुरोहित भी सलाखों के पीछे हैं.

इस बीच कांग्रेस ने मांग की है कि अभिनव भारत और राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के संबंधों की जांच होनी चाहिए. कांग्रेस प्रवक्ता मनीष तिवारी ने आरोप लगाया कि अभिनव भारत आरएसएस से जुड़ा हुआ है. कांग्रेस प्रवक्ता के आरोप को आरएसएस ने ख़ारिज़ किया है. आरएसएस प्रवक्ता राम माधव ने कहा, ''धमाके में संघ का नाम घसीटने की कोशिश की जा रही है.''

रिपोर्ट: पीटीआई/ओ सिंह

संपादन: एस गौड़

संबंधित सामग्री