1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

जर्मन चुनाव

अजमेर- एटीएएस ने नार्को टेस्ट की अनुमति मांगी

आतंकवाद निरोधी पुलिस ने अदालत से अनुरोध किया है कि अजमेर शरीफ़ बम धमाके के मामले में गिरफ्तार देवेन्द्र गुप्ता का नार्को टेस्ट करने की उसे इजाजत दी जाए. 2007 में अजमेर शरीफ़ में विस्फोट हुआ था.

default

आतंकवाद निरोधी पुलिस सूत्रों ने कहा, "हमने अजमेर अदालत से अनुमति मांगी है कि गुप्ता का नार्को टेस्ट किया जाए. इस बारे में अगली सुनवाई में सोमवार को फैसला लिया जाएगा."

अजमेर मामले में पुलिस ने तीन लोगों को गिरफ्तार किया है. अजमेर के देवेन्द्र और मध्यप्रदेश के चंद्रशेखर और विष्णु पाटीदार को पुलिस ने पकडा है. गुप्ता और चंद्रशेखर रिमांड पर हैं और उनसे एटीएस जयपुर में पूछताछ कर रहा है. जबकि पाटीदार को अजमेर लाया गया है.

कहा जा रहा है कि देवेन्द्र गुप्ता हिंदु कट्टरपंथी संगठन अभिनव भारत से जुड़े हुए हैं. इस संगठन का नाम मालेगांव धमाकों में भी सामने आया था.

पुलिस ने संदेह जताया है कि धमाके और उसकी साजिश में चंद्रशेखर ने अहम भूमिका निभाई. 2007 में हुए उस धमाके में तीन लोगों की जान चली गई थी. पुलिस पहले गिरफ़्तार हो चुके अभिनव भारत के अन्य लोगों से लेकर चंद्रशेखर और गुप्ता तक की कड़ियां जोड़ने की कोशिश कर रही है. अभिनव भारत पर मालेगांव और समझौता एक्सप्रेस ब्लास्ट के आरोप हैं. मामले में सेना के एक पूर्व अधिकारी कर्नल पुरोहित भी सलाखों के पीछे हैं.

कांग्रेस प्रवक्ता मनीष तिवारी ने आरोप लगाया कि अभिनव भारत आरएसएस से जुड़ा हुआ है. कांग्रेस प्रवक्ता के आरोप को आरएसएस ने ख़ारिज़ किया है. आरएसएस प्रवक्ता राम माधव ने कहा, ''धमाके में संघ का नाम घसीटने की कोशिश की जा रही है.''

रिपोर्टः पीटीआई/आभा मोंढे

संपादनः एम गोपालकृष्णन

संबंधित सामग्री