1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

अचानक तुर्की का समुद्र क्यों हो गया फिरोजी

तुर्की के सबसे बड़े शहर इस्तांबुल की बोस्फोरेस खाड़ी में पानी का अचानक रंग बदलने से लोगों को हैरानी में डाल दिया. बोस्फोरेस के पानी का रंग आम तौर पर नीला होता है. बोस्फोरस खाड़ी यूरोप और एशिया महाद्वीपों को अलग करती है.

वैज्ञानिकों का कहना है कि पानी का रंग बदलने की वजह काला सागर में प्लवकों के बढ़ जाने की वजह से हुआ है. बोस्फोरेस के पानी का रंग आम तौर पर नीला होता है, लेकिन पिछले सप्ताह इसका रंग अचानक दूधिया फिरोजी हो गया. पानी का रंग अचानक बदल जाने से स्थानीय निवासियों को चिंता हुई.

कुछ लोगों ने डर के कारण सोशल मीडिया पर इस बारे में लिखा. रंग के बारे में लोगों के संशय जताया कि पानी प्रदूषित हो जाने की वजह से इसका रंग बदल गया है. वहीं कुछ लोगों ने लिखा कि हाल ही में एजियन सागर में आये भूकंप के वजह से भी ऐसा हो सकता है.

इस बदले हुये रंग में एक अलग सी गंध भी थी, लेकिन वैज्ञानिकों ने साफ-साफ कहा कि रंग बदलने के पीछे ऐसी कोई रहस्यमयी वजह नहीं है. उन्होंने कहा कि इसका प्रदूषण से कोई संबंध नहीं है बल्कि यह तो इस्तांबुल में पसंद की जाने वाली एन्कोवी मछली के लिए भी बहुत अच्छा है. उन्होंने कहा कि काला सागर में अचानक एमिलियानिया हक्सलेयी की संख्या बढ़ गयी है जो बहुत ही अच्छी बात है. 

एमिलियानिया हक्सलेयी एक कोशकीय जीव है जिसे सिर्फ माइक्रोस्कोप से ही देखा जा सकता है.  इसकी आश्चर्यजनक अनुकूलन क्षमता इसे भूमध्य सागर से आर्कटिक तक पनपने में सक्षम बनाता है

काला सागर के पानी के बदलते रंग की तस्वीरें नासा से अपने सैटेलाइट से भी ली हैं. नासा ने कहा कि समंदर का ये दूधिया फिरोजी रंग पादप प्लवक कोकोलिथोफोर की वजह से हुआ है. एमिलियानिया हक्सलेयी भी कोकोलिथोफोर प्रजाति का ही प्लवक है. यह एक कोशकीय जीव पर कैल्शियम कार्बोनेट की एक परत होती है, और जब पानी में इनकी संख्या बढ़ जाये तो उसका रंग बदल जाता है.  

एसएस/एमजे(एएफपी)

संबंधित सामग्री