1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

अंबानी के आलीशान महल में शानदार दावत

शुक्रवार शाम मुंबई के 80 मशहूर और अमीर नामों ने दुनिया के सबसे महंगे आशियाने का दीदार किया. 174 मीटर लंबी और 27 मंजिलों वाली इस इमारत में छह मंजिलें सिर्फ गाड़ियों की पार्किंग के लिए हैं. ये अंबानी की एंटिलिया है.

default

आलीशान इमारत को आशियाना बनाने की शुरुआत अंबानी ने शानदार दावत से की. आमिर खान आए, कुमार मंगलम आए, प्रीति जिंटा और मशहूर लेखिका शोभा डे भी. अटलांटिक द्वीप में बसे एक द्वीप के नाम पर अंबानी ने अपने घर का नाम एंटिलिया रखा है. शोभा डे ने एंटिलिया को 21वीं सदी का ताज कहा. करीब 50 अरब रुपये खर्च करके बनाई गई एंटिलिया दुनिया की सबसे महंगी निजी रिहायश मानी जा रही है. वैसे हो भी क्यों न यह भारत के सबसे बड़े कारोबारी समूह के मालिक का आशियाना है जो सिर्फ भारत ही नहीं, मौजूदा दौर में दुनिया की अर्थव्यवस्था पर सबसे मजबूत पकड़ रखने वाले लोगों में से एक है.

Flash-Galerie Mukesh Ambani

मुकेश नीता अंबानी

इमारत इतनी ऊंची इसलिए बनाई गई कि मुंबई की गंदी हवा, शोर और आसपास की इमारतों की बू इसे छू भी न सके. अंबानी की दावत में आए एक शख्स ने कहा "इतनी ऊंचाई पर आओ तो सांस लेने के लिए ताजी हवा मिलती है और मुंबई का प्रदूषण कहीं नीचे छूट जाता है." एंटिलिया में रहने वाले कुल सदस्य सिर्फ पांच है, अंबानी उनकी बीवी नीता और उनके नीत बच्चे. वैसे एक क्वार्टर मुकेश की अम्मा कोकिलाबेन के लिए भी है जो फिलहाल यहां से थोड़ी दूर अंबानी परिवार के पुराने 14 मंजिला घर में रहती हैं. मुकेश के छोटे भाई अब भी वहीं रहते हैं और एंटिलिया से पहले मुकेश का भी वही आशियाना था. शुक्रवार की रात यहां भी एक पार्टी थी जो अनिल ने दी थी. घर में रहने वाले लोग कम हैं इसलिए इसकी देखभाल की जिम्मेदारी दूसरे लोगों पर है. पूरे 600 लोगों की एक फौज इस आलिशान इमारत का ख्याल रखेगी.

इमारत में भूतल पर एक मंदिर भी है. इसके अलावा सिनेमा हॉल, स्विमिंग पूल और छत पर हैलीपैड भी. दूर से अलग अलग आकार की एक के ऊपर एक रखी किताबों सी दिखती एंटिलिया के छत पर जाएं तो पूरी मुंबई पर नजर डाल सकते हैं. एक तरफ अरब सागर है तो दूसरी तरफ मकानों के जंगल जैसी नजर आती मुंबई और इसी मुंबई में की वह आधी आबादी भी जो झुग्गी झो़पड़ियों में रहती है. इन झुग्गियों में ना तो बिजली का ठिकाना है ना पानी के आने का कोई भरोसा. अंबानी के घर से कुछ ही कदमों की दूरी पर अल्टामाउंट रोड है जहां फ्लाइओवर को नीचे कई परिवार अपनी रातें गुजराते हैं.

रिपोर्टः एजेंसियां/एन रंजन

संपादनः ए कुमार

DW.COM

WWW-Links

संबंधित सामग्री